Blog

बच्चो के साथ मिलना और कुछ बचपना करना, सचमुच आनंदित करता है।- रेज फाउंडेशन महासचिव पल्लवी कुमारी।

व्यस्त से व्यस्ततम होते जा रहा है समय, कुछ दिनों से बेहद तनावग्रस्त लग रहा था । काम काम और काम , बस यूँही दिल ने कहा कि कुछ आह्लादित महसूस तो हो चलें उन पगडण्डियों राहों ,मुहल्लों में ,जहाँ रहने वाले लोग। ,जिनके जीवन मे संघर्ष ,संघर्ष और  सिर्फ संघर्ष होता है ।

भले ही घर में खाना ना हो लेकिन चेहरे पर मुस्कान और एक अलग चमक होती है । तो फिर देर किस बात की थी सुबह-सुबह नींद से उठते ही बस निकल गयी बच्चो के साथ  मिलने। बच्चों से मिलना और कुछ बचपना करना, सचमुच आनंदित कर गया। उनसे बहुत बातें भी की, अच्छा महसूस हुआ ।

उन नन्हें मुन्ने और देश के इन भविष्य बच्चे से मिलकर मन प्रफुल्लित और तरो ताजा हो गया।क्योंकि इनके पास पूँजी हो ना हो लेकिन इनकी आँखों की चमक और मुस्कान इनकी सबसे पड़ी पूँजी है।

🌹सादर 🌹
रेज फाउंडेशन महासचिव पल्लवी कुमारी

Leave a Reply

Your email address will not be published.