Bihar Breaking News

समस्तीपुर मुसरीघरारी के किराना व्यवसायी हत्याकांड में दो और गिरफ्तारी के साथ पुलिस ने सुलझायी हत्या की गुत्थी।

समस्तीपुर जिले में बढ़ते आपराधिक घटना को लेकर पुलिस अधीक्षक मानव जीत सिंह ढिल्लो के निर्देश पर एवं सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी शहबान हबीब फाखरी के नेतृत्व में सदर अंचल पुलिस निरीक्षक विक्रम आचार्य, मुसरीघरारी थाना अध्यक्ष संजय कुमार सिंह, सरायरंजन थाना अध्यक्ष राजा, ताजपुर थाना अध्यक्ष ब्रजकिशोर सिंह, बंगरा एनएच थाना अध्यक्ष संजीव कुमार, ताजपुर थाना के गुलनाज कौसर, मुसरीघरारी थाना के मुकेश कुमार एवं अन्य पुलिसकर्मी की टीम ने रविवार को गुप्त सूचना पर मुसरीघरारी थाना क्षेत्र में भीषण छापेमारी की।

पुलिस गुप्त सूचना के आधार पर मुसरीघरारी थाना क्षेत्र के कांड संख्या 05/2021 के वांछित एवं मुसरीघरारी थाना क्षेत्र के बखरी बुजुर्ग गांव निवासी उमेश राय के पुत्र चंदन कुमार अपने घर में आकर छिपा हुआ है। का सूचना मिलने के बाद ही त्वरित कार्रवाई करते हुए पुलिस की टीम ने शाम के करीब 7:30 बजे बखरी बुजुर्ग अभियुक्त चंदन कुमार के घर पर घेराबंदी कर छापेमारी शुरू कर दी।

छापेमारी के दौरान वांछित अभियुक्त चंदन कुमार घर से फरार पाया गया। घर की तलाशी लेने पर अपराधकर्मी चंदन कुमार के पिता उमेश राय एवं चंदन कुमार के भाई रवि रंजन कुमार एक चौकी पर पाए गए। तलाशी लेने पर चौकी पर बिछे बिछावन के नीचे काले रंग के पॉलिथीन में छिपाकर रखा तीन गोली बरामद हुआ।

बरामद गोली के संबंध में पूछे जाने पर उमेश राय द्वारा बताया गया कि गोली उमके पुत्र रवि रंजन कुमार ने दिया था और बताया कि मुसरीघरारी थाना क्षेत्र के बखरी बुजुर्ग गांव निवासी योगेंद्र राय के पुत्र धीरेंद्र राय उर्फ गनी एवं रामभरोस पाल के पुत्र राकेश पाल ने करीब 10 दिन पहले फोन करके बताया था कि धीरेंद्र राय के घर के पीछे जलावन रखा हुआ था। उसी के नीचे गड्ढे में मिट्टी से ढक कर एक तालाब में रखकर तीन देसी पिस्तौल तथा 10 जिंदा गोली रखा हुआ है।

एफजेड मोटरसाइकिल से मुसरीघरारी थाना क्षेत्र के बरबट्टा गांव निवासी बलदेव राय के पुत्र ऋषि राय आएगा। उसे गड्ढे से निकालकर देसी पिस्तौल एवं गोली दे देना। दूसरे दिन ऋषिराय आया जिसे पिस्तौल एवं साथ गोली रवि रंजन कुमार ने दे दिया और 3 गोली रख लिया जो बरामद हुआ है।

बरामद गोली के संबंध में उमेश राय एवं किशोर रवि रंजन कुमार के विरुद्ध मुसरीघरारी थाना कांड संख्या एक पर 137/2021 रविवार 17 अक्टूबर को दर्ज किया गया हैं। विधि विरुद्ध किशोर रवि रंजन कुमार से पूछताछ करने पर पाया गया कि राजेश पाल ने कुछ दिन पहले पिस्तौल एवं गोली से दिया था और छिपाकर रखने को कहा था।

राजेश पाल की कहने पर उसके द्वारा दिया गया पिस्तौल एवं गोली धीरेंद्र राय उर्फ गनी राय के घर के पीछे छिपा कर रखा था। मुसरीघरारी थाना अंतर्गत किराना व्यवसाई चंद्रभूषण प्रसाद की हत्या के दिन राजेश पाल एवं उनके अन्य सहयोगी के द्वारा पिस्तौल एवं गोली की मांग की गई। तो यह राजेश पाल के द्वारा दिया गया पिस्तौल एवं गोली को थैले में रखकर बथुआ बुजुर्ग हाई स्कूल के पास राजेश पाल एवं उनके अन्य सहयोगियों को दे दिया था।

जिसके बाद किराना व्यवसाई चंद्रभूषण प्रसाद की हत्या राजेश और उनके सहयोगी द्वारा किया गया। पुलिस की भीषण छापेमारी एवं कार्रवाई के दौरान दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। जिनमें मुसरीघरारी थाना क्षेत्र के बखरी बुजुर्ग गांव निवासी चंदेश्वर राय के पुत्र उमेश राय एवं उमेश राय के पुत्र रवि रंजन कुमार शामिल हैं। इन अपराधियों की गिरफ्तारी के दौरान पुलिस ने तीन जिंदा गोली एक मोबाइल सेट बरामद किया हैं। इसके साथ ही पुलिस ने एक चुनौती भरे मामले को लगभग सुलझा लिया है। आपको बताते चलें कि बीते दिनों मुसरीघरारी थाना क्षेत्र के किराना व्यवसाई चंद्र भूषण प्रसाद की गोलियों से भून कर निर्मम हत्या कर दी गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.